MBA Chai Wala Success Story | कौन है MBA Chai Wala – 2022

22 साल के प्रफुल्ल (prafull) MBA की पढ़ाई कर रहे थे और बाद में पढ़ाई छोड़कर वो चाय बेचने लगे। आज वो एक सफल बिजनेसमैन हैं और उनका MBA Chai Wala बिजनेस बहुत ही लोकप्रिय है। हुमलोगों ने ये अक्सर सुना है की, जो इंसान वास्तव में कुछ बढ़ा करना चाहता है, उसे कोई नहीं रोक सकता है। MBA Chai Wala की Story भी कुछ ऐसी ही है, तो आइए हम जानते हैं उनकी इस Success Story के बारे में।

MBA Chai Wala Success Story In Hindi

यह कहानी एक मध्यमवर्गीय भारतीय प्रफुल्ल बिलोर (prafull billore) की inspirational कहानी है, जो किसी भी अन्य स्टूडेंट की तरह ड्रीम कोर्स MBA करना चाहते थे। इसलिए, वह कैट प्रवेश परीक्षा में तीन साल तक उपस्थित रहे और हर बार असफल रहे। वह बहुत ही ईमानदार छात्र थे जिसने परीक्षा के लिए रोजाना 8 से 10 घंटे पढ़ाई की। 

लेकिन लगातार विफलता के कारण,  वह उदास हो गया और उसने अपनी सारी किताबें फेंक दीं और कुछ हफ्तों के लिए खुद को एक कमरे में बंद कर लिया। 

MBA Chai Wala Success Story in हिन्दी में - 2022
MBA Chai Wala Success Story in हिन्दी में – 2022

उन्होंने पूरे भारत में जैसे बंग्लौर, चेन्नई, हैदराबाद, मुंबई, गुड़गांव आदि में कुछ नया खोजना शुरू कर दिया | बाद में उसने सोचा कि वह कब तक इस तरह भटकता रहेगा, जिंदा रहने के लिए उसे कुछ करना होगा। वह अहमदाबाद में मैकडॉनल्ड्स (McDonald) डेलीवेरी बॉय के रूप में शामिल हुए इस दौरान, एक चाय विक्रेता से बात करने के बाद बिल्लोर ने फैसला किया कि वह एक चाय की दुकान खोलेंगे।

MBA Chai Wala ke उनके चाय बेचने का कारण

MBA Chai Wala ke उनके चाय बेचने का कारण एस हा की जब वो मैकडॉनल्ड्स (McDonald) में डिलीवरी बॉय के तौर पर काम करते हुए उन्हें प्रमोशन मिला और वो वेटर बन गए। वेटर बनने के बाद अब वह ग्राहकों से ऑर्डर ले रहे थे,

और इस वजह से वो हर दिन एक नए लोग से मिल रहे थे और इससे उन्हे बहुत लाभ हुआ क्योंकि वह हर दिन नए लोगों से और नए विचारों से और नए अनुभवों से रुहबारूह हो रहे थे। तब उसने सोचा कि वह मैकडॉनल्ड्स की पहचान के साथ कब तक जीवित रहेगा, उसकी अपनी कोई पहचान नहीं होगी। वह अपना खुद का कैफे शुरू करना चाहते थे, लेकिन 15 lakh की एक कैफे को शुरू करना उनके लिए असंभव था| इसलिए उन्होंने सोचा कि क्यों न चाय के स्टॉल से शुरुआत की जाए।

MBA Chai Wala का सफर

@prafullmbachaiwala

MBA Chai Wala सफर कुछ यू था, जब उन्होंने काम शुरू किया तो पहले दिन कोई ग्राहक उनके पास नहीं आया। दूसरे दिन, उसने सोचा कि यदि ग्राहक नहीं आ रहे हैं, तो उसे स्वयं ग्राहकों के पास जाना चाहिए और उन्हें बताना चाहिए कि उन्होंने चाय स्टाल खोला है, इसलिए कृपया उनके स्टाल पर आएं। इसलिए, दूसरे दिन उन्होंने चाय के 5 कप बेचे, जिनसे उन्होंने (5* रु .30) = 150 रु कमाया| इसके बाद , 9AM से 6PM तक वह अपने मैकडॉनल्ड्स की नौकरी कर रहा था, और 7PM से 11PM तक वह अपनी चाय बेच रहा था।

जब वह लोगों को चाय देते तो वो हर ग्राहक को अंग्रेजी में शुभकामनाएं दे रहे थे, इसीलिए हर कोई इस वजह से उनके बारे मे सोचता था की ये वह लड़का कौन है? जो अंग्रेजी बोलता है, और चाय बेचता है!

@Josh Talks

फिर इस तरह ग्राहक पहले से ही इस उनके के स्टॉल के पास खड़े होने लगे और उनका उसका इंतजार करने लगे थे। उन्होंने फिर एक दिन मे 600 रुपये कमाए, अगले दिन Rs1200, अगले दिन Rs4000, अगले दिन Rs5000 उनका ये काम बहुत अच्छा जा रहा था और इसलिए उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और अपने चाय के कारोबार मे ध्यान देना शुरू किया।

एक दिन उनके पिता ने उन्हें फोन किया और डिटेल्स मांगा क्योंकि उन्होंने उनसे 15 हजार रुपये लिए थे। उसने फिर से अपने पिता से झूठ बोला कि 2 से 3 दिन में फॉर्म आ जाएगा और सब कुछ ठीक हो जाएगा|

उसने फिर अपने पिता से 50 हजार रुपये लिए और सिर्फ अपने पिता के लिए लोकल MBA कॉलेज में Admission लिया। कॉलेज जाने के बाद वे ऐसे छात्रों से घिरे थे, जो लक्ष्यहीन थे। इसलिए उन्हें लगा कि यहाँ उनका समय बर्बाद हो रहा है। उसने सोचा कि यहां समय बर्बाद करने के बजाय अगर वह अपने बिजनस पर ध्यान केंद्रित करता है तो यह बेहतर होगा।

कॉलेज के 7 वें दिन, कॉलेज से बाहर चला गया और उसे छोड़कर अपने व्यवसाय पर ध्यान केंद्रित करने लगा।

सभी चीजें ठीक चल रही हैं लेकिन हर स्टार्ट-अप में, एक समय आता है जब आपके धैर्य, आपके जुनून, आपके समर्पण और आपकी इच्छा शक्ति का परीक्षण किया जाता है। उनका व्यवसाय फलफूल रहा था और हर व्यवसाय में, यदि आपका प्रतियोगी तेजी से सफल हो रहा है तो ईर्ष्या होती है। MBA Chai Wala के बीच कोई प्रतिस्पर्धा नहीं थी। इसलिए एक अन्य चाय विक्रेता ने शिकायत की, कि उसकी दुकान उनसे ज्यादा चल रही है। इसलिए विवाद के कारण, उनकी दुकान को केवल 2 महीनों में हटा दिया गया।

इस बार वह पहले से ज्यादा उदास हो गया और सोचने लगा कि क्या उसने गलत फैसला लिया है? उनके ग्राहक उन्हें इंस्टाग्राम और Facebook पर मैसेज कर रहे थे।

MBA Chai Wala ( Prafull Billore )

उन्होंने अपने चाय वाले थेला को बेहतर तरीके से खोलने के लिए फिर से अच्छी जगह की खोज शुरू की ताकि कोई भी उसे फिर से छू न सके। वह एक अस्पताल में गया और उसने डॉक्टर से कहा कि क्या वह उसे अस्पताल के सामने अपने चाय वाले थेला को रखने में मदद कर सकता है ताकि कोई भी उसे वहां से हटा न सके, वह उसे किराए का भुगतान करेगा जो वह चाहता है ।

डॉक्टर सहमत हो गए और उन्होंने प्रति माह 10,000 रुपये किराए पर लिया और फिर से अपना व्यवसाय शुरू किया। उनकी दुकान यूनीक थी इसलिए यह केवल चाय तक ही सीमित नहीं रहे, इसलिए दुकान के सामने एक व्हाइटबोर्ड रखे जिसमे बेरोजगार लोगों के लिए काम का विवरण था जिसकी वजह से उन्हे काम देकर , वो कई और काम कर सके।

उसकी वजह से कई लोगों को नौकरी मिली। अब लोग केवल चाय की वजह से नहीं बल्कि नेटवर्किंग की वजह से उनके पास आ रहे थे।

उन्होंने अपनी दुकान का नाम अभी तक नहीं रखा था, इसलिए उन्होंने अपनी दुकान का नाम ‘MBA Chai Wala ‘ (मिस्टर बिलोर अहमदाबाद चाय वाला) रखा। लोग उनके नाम की आलोचना करने लगे और उनका मजाक उड़ाते हुए देखा कि MBA का आदमी चाय बेच रहा है। 

तब उसने सोचा कि मुझे उन लोगों की परवाह क्यों करनी चाहिए, अब एमबीए चाय वाला मशहूर हो गया। उन्होंने सिर्फ 2 साल में 150 से 200 इवेंट किए थे।

अब MBA चाय वाला एक नेटवर्किंग हब बन गया, 1 व्यक्ति से यह 35 सदस्यीय परिवार बन गया है। 

Prafull Billore अब कॉलेज जाते हैं और छात्रों को बताते हैं कि कैसे सपनों को जीना है।

यह भी पड़े –

Conclusion

तो यह था MBA Chai Wala की Story से जुड़ी सारी जानकारी दोस्तों इस रोमांचक कहानी से ये एक चीज सीखने को मिलती है की अगर आप कुछ बढ़ा या कुछ अलग करना चाहते है तो आपको बहुत ही धैर्य रखना होगा और साथ ही काभी हर नहीं माननी होगी आपको सफलता जरूर मिलेगी,

अगर आपको यह Post पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें, और ऐसी जानकारी चाहते है, तो इसे शेयर करें और कमेन्ट में हमे अपना टॉपिक बताए|

FAQ’s (Frequently Asked Questions)

Q. MBA Chai Wala Turnover

Ans. वित्त वर्ष 2019-20 में उन्होंने 3 करोड़ रुपये का कारोबार दर्ज किया।

Q. MBA Chai Wala Income

Ans. वित्त वर्ष 2019-20 में उन्होंने 3 करोड़ रुपये का कारोबार दर्ज किया।

Q. MBA Chai Wala Net Worth

Ans. वित्त वर्ष 2019-20 में उन्होंने 3 करोड़ रुपये का कारोबार दर्ज किया।

Q. MBA Chai Wala Franchise Cost

Ans. MBA Chaiwala Franchise is Rs. 3 lakhs.

 

Anwaar Aslam

Hello Everyone, मेरा नाम Anwaar Aslam हैं और मैं Gyaanly का Owner और Writer हूँ, मैं एक Full Time ब्लॉगर हूं। मुझे नई इनफार्मेशन जानना और शेयर करना पसंद है और मैं यहां Education, Technology से रिलेटेड जानकारी शेयर करता हूँ। 😁❤

Leave a Reply