NPA Full Form In Hindi | NPA क्या हैं जानिए पूरी जानकारी – 2022

NPA Full Form in Hindi: दोस्तों आज हम इस पोस्ट मे जानेंगे NPA Full Form के बारे मे और जानेंगे कि NPA Kya Hai और साथ ही इससे जुड़ी और भी जानकारिया, तो बने रहे और पूरी जानकारी हसिल करने के लिए इस पोस्ट को पूरा पड़ें।

NPA Full Form In Hindi | NPA क्या हैं

NPA Full Form “नॉन परफार्मिंग एसेट = (Non Performing Asset)” होता है।

CategoryBank
DefinitionNon Performing Asset (नॉन परफार्मिंग एसेट)
Hindi Meaningअनर्जक परिसंपत्ति या गैंर निष्पादित
NPA Full Form in Hindi
NPA Full Form in Hindi | एनपीए क्या हैं और इसका फुल फॉर्म क्या होता हैं।
NPA Full Form in Hindi

NPA Meaning in Hindi

NPA Full Form in Hindi: दोस्तों NPA का हिंदी में मतलब है “अनर्जक परिसंपत्ति” या फिर “गैंर निष्पादित संपत्ति”। इसका मतलब होता है कि अगर बैंक जरिए जो भी लोन (Loan) कोई भी व्यक्ति को दिया गया है, वो लोन अब बैंक को कोई भी इनकम जनरेट (Income Generate) करके नही दे पा रहा है, इसी स्तिथि मे यह Non Performing Asset (नॉन परफार्मिंग एसेट) NPA कहलाता है।

NPA क्या है | NPA Kya Hai

NPA Full Form in Hindi: दोस्तों यह बैंक से लोन के रूप में दिया जाने वाला अमाउन्ट या पैसा बैंक के लिए ऐसेट होता है, और यह बैंक को ब्याज के जरिए प्रॉफ़िट कमाकर देता है।

NPA Full Form in Hindi: दोस्तों जब लोन का Principal amount (मूलधन) और Interest (ब्याज) बैंक को उसके वक्त पर भरे जाते हैं तो उसको बैंक मानक संपत्ति (Standard Asset) कहते है, और जब वो व्यक्ति जिसने लोन लिया है उसने क़िस्त जमा करने की Date के 90 दिन के अंदर नही जमा करता तो उसको Non Performing Asset (NPA) कहा जाता है, और दोस्तों आपको बात दूँ की एनपीए के नियम विभिन्न तरह के लोन पर अलग प्रकार के हो सकते हैं।

इस तरह जब कोई भी व्यक्ति बैंक की EMI देने में असमर्थ होता है, तब उसका लोन NPA की श्रेणी में आता है। इसको इस तरह भी समझ सकते हैं, कि बैंक ने जो भी लोन दिया था, वह डूब गया। जिसकी रिकवरी होने की उम्मीद नही है। उसको NPA कहा जा सकता है।

मान लीजिए आपने बैंक से 10 लाख का लोन लिया है और आपको उस राशि पर 10% का ब्याज देना है। इस तरह आप एक EMI बनवा लेते हैं और आप आसान किस्तों में बैंक का लोन चुकाते हैं। जब तक आप सही समय पर EMI देते रहते हैं, तब तक तो सब ठीक है। मान लीजिए कि आपको बिजनेस में नुकसान हो गया तब आप बैंक की EMI बैंक द्वारा निश्चित की गई तारीख के 90 दिन तक नही जमा कर पाते हैं, तो आपके द्वारा गया लोन NPA की कैटेगरी में आ जाता है या बैंक उस लोन को एनपीए घोषित कर देता है।

NPA के प्रकार | Types of NPAs

Doubtful Assets (डाउटफुल असेट्स)अगर किसी व्यक्ति का लोन (Loan) एक साल तक सबस्टैंडर्ड असेट्स के रूप पर रहता है तब इसको Doubtful Assets (डाउटफुल असेट्स) कहते।
Loss Assets (लॉस असेट्स)अगर लोन की Recovery होने की कोई भी उम्मीद न हो तब बैंक इसको Loss Assts (लॉस असेट्स) कहते है।
Sub Standard Assets (सबस्टैंडर्ड असेट्स)अगर किसी व्यक्ति का Loan (लोन) एक साल या फिर इससे कम वक्त के लिए NPA में रहता है तब इसको Sub Standard Assets (सबस्टैंडर्ड असेट्स) की Category में रखा जाता है।
NPA Full Form in Hindi

NPA Full Form in Hindi: दोस्तों कोई कोई भी व्यक्ति किसी भी बैंक से लोन लेता है तो उसको EMI (किस्तों) के जरिए बैंक पर पैसे जमा करना होता है, लेकिन अगर उपभोक्ता लगातर तीन EMI (किस्तें) बैंक में जानबूज कर यह फिर किसी और वजह से नही जमा कर पाता है तो उसका एकाउंट NPA हो जाता है यह चीज आपको माना ऊपर भी बताई है।

और दोस्तों इस केस फिर बैंक लोन लेने वाले व्यक्ति के घर पर Notice (नोटिस) भेजते है, इसके बाद भी अगर वह व्यक्ति Notice (नोटिस) मिल जाने के बाद भी बैंक का Loan (लोन) नही भरता है तो फिर ऐसे केस मे बैंक ने जो भी बंधक दस्तावेज़ (Mortgage Document) Loan (लोन) लेने वाले से लिये गए थे, उसके आधार पर जो भी प्रॉपर्टी दी गई होगी बैंक उसे जब्त कर लेता है, इसी वजह से हर बैंक बंधक दस्तावेज़ (Mortgage Document) के बिना Loan (लोन) नही देते है।

Conclusion

इस पोस्ट मे आपने जाना की NPA Full Form In Hindi, और NPA क्या है, इसका मतलब क्या है, और बैंक मे इसका क्या मतलब होता है, इन सभी के बारे मे, मुझे उम्मीद है की आपको अब NPA Full Form in Hindi के बारे मे सारी जानकारी मिल गई होगी। हमारी वेबसाईट Gyaanly.com मे आते रहे और नई नई पोस्ट पढ़ते रहे और हमारे दोस्त भी बने रहे, हमारे सोशल मीडिया अकाउंट को फॉलो कर सकते है। Facebook, InstagramTwitter अगर आपको कुछ पूछना है तो कमेन्ट या मैसेज करके पूछ सकते है।

यह भी पड़े –

FAQ’s ( Frequently Asked Questions)

Q. एनपीए की फुल फॉर्म क्या है? | What Is NPA Full Form?

Ans. NPA का फूल फॉर्म “नॉन परफार्मिंग एसेट (Non Performing Asset)” होता है।

Q. एनपीए खाते का मतलब क्या होता है?

Ans. NPA का फुल फॉर्म Non-performing asset होता है जिसे हिंदी में गैर निष्पादनकारी परिसंपति कहते है. वह ऋण जिस पर एक निश्चित अवधि तक लगातार 90 दिनों तक कोई ब्याज की प्राप्ति न हो वह एनपीए खाता कहलाता है. बैंको के लिए यह निश्चित अवधि 90 दिन और गैर बैंकिंग वित्तीय संसथान के लिए यह अवधि 180 दिन की होती है.

Q. एनपीए कितने प्रकार का होता है?

Ans. एनपीए मुख्य रूप से तीन प्रकार का होता है, पहला सबस्टैंडर्ड, दूसरा डाउटफुल और तीसरा लॉस यानि हानि वाला। सबस्टैंडर्ड एनपीए के तहत उस राशि को डाला जाता है जिसमे 12 महीने या उससे कम समय तक कोई भी रिटर्न नहीं आता है, डाउटफुल एनपीए में वह लोन आता है जिसमे 12 महीने बाद भी कोई रिटर्न नहीं आता है।

Q. NPA के बाद क्या होता है?

Ans. एनपीए का मतलब यह है कि बैंक उसे फंसा हुआ कर्ज मान लेते हैं. एनपीए बढ़ना किसी बैंक की सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता. किसी लोन को एरियर यानी बकाया माना जाता है यदि उस पर ग्राहक मूलधन या ब्याज का भुगतान में चूक कर देता है. लेकिन यह चूक जब लगातार तीन महीने तक हो तो इसे एनपीए घोषित कर दिया जाता है।

Q. Why NPA Is Important?

Ans. बैंकों के प्रदर्शन और वित्तीय स्वास्थ्य को आंकने के लिए एनपीए को एक महत्वपूर्ण मानदंड माना जाता है। यदि किसी बैंक का एनपीए अनुपात अधिक है तो उसका प्रदर्शन कम एनपीए अनुपात वाले बैंक की तुलना में कमजोर माना जाता है। यह बैंक की सद्भावना और इक्विटी मूल्य पर बुरा प्रभाव डालता है।

Q. Why NPA Increasing In India?

Ans. NPA के बढ़ने कि वजह है जो 2020 मे जो पेंडमिक हुआ वो भी हो सकती है, क्युकी इसकी वजह से लोगों के रोजगार मे फरक पढ़ा और बहुत से कारोबार बंद भी हो गए जिसकी वजह से लोग अपनी EMI नहीं चुका पा रहे।

NPA Full Form In Hindi | NPA क्या हैं जानिए पूरी जानकारी - 2022

Anwaar Aslam

About Author

Hello Everyone, मेरा नाम Anwaar Aslam हैं और Gyaanly का फाउन्डर और राइटर हूँ, और मैं एक Full Time ब्लॉगर हूं। मुझे नई इनफार्मेशन जानना और शेयर करना पसंद है और मैं यहां Education से रिलेटेड और कुछ और जानकारी के बारे में लिखता हूं, अधिक जानने के लिए हमारे साथ बने रहें।

Anwaar Aslam

Hello Everyone, मेरा नाम Anwaar Aslam हैं और मैं Gyaanly का Owner और Writer हूँ, मैं एक Full Time ब्लॉगर हूं। मुझे नई इनफार्मेशन जानना और शेयर करना पसंद है और मैं यहां Education, Technology से रिलेटेड जानकारी शेयर करता हूँ। 😁❤

Leave a Reply